Starlink प्रोजेक्ट क्या है [ सुपरफास्ट इंटरनेट ]? Starlink Mission in Hindi?

क्या आप जानना चाहते हैं की Starlink प्रोजेक्ट क्या है? और किस तरह यह आने वाले कुछ सालों में ही दुनिया के हर कोने में इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध करा देगा? इस आर्टिकल में आप यह भी जानने वाले हो की किस तरह Starlink प्रोजेक्ट (Starlink Mission in Hindi) को पूरा किया जाएगा और इसे पूरा करने में कितने रुपए खर्च होंगे. तो चलिए जानते हैं.

Starlink प्रोजेक्ट क्या है ? (Starlink Mission in Hindi)

Starlink प्रोजेक्ट में 42 हज़ार इंटरनेट प्रोवाइड करने वाले सैटेलाइट्स को पृथ्वी के कक्ष में भेजा जाएगा, इन्ही सैटेलाइट्स की मदद से पृथ्वी के हर कोने में 5G से भी अधिक स्पीड वाला इंटरनेट उपलब्ध होगा. Starlink प्रोजेक्ट की शुरुआत सदी के सबसे क्रांतिकारी इंसान एलोन मस्क ने किया है.

Starlink Project Mission in Hindi Elon Musk

हालाँकि starlink की तरह ही कई सारी कम्पनियाँ हैं जो की Satellite के जरिए इंटरनेट उपलब्ध कराती है लेकिन वे सभी कम्पनीज के पास काफी कम सैटेलाइट्स हैं, लेकिन एलोन मस्क के स्टारलिंक प्रोजेक्ट में 42 हज़ार सैटेलाइट्स का इस्तेमाल किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें :

Satellite इंटरनेट कैसे काम करता है?

इसमें जरुरी होता है एक रिसीवर का जो की किसी व्यक्ति के घर में मौजूद होता है उसके बाद वह रिसीवर satellite और घर में मौजूद WiFi से कनेक्ट होता और व्यक्ति का मोबाइल या कंप्यूटर WiFi से कनेक्ट रहता है. चलिए इसे एक उदाहरण से समझते हैं.

Starlink Project Mission in Hindi Satellites

मान लीजिये आप अपने मोबाइल में जिस इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हो वह आपके WiFi से कनेक्ट है और आपका WiFi आपके घर के ऊपर लगे रिसीवर से कनेक्टेड है और वह रिसीवर Satellite से कनेक्टेड है और वह Satellite किसी डेटासेंटर से कनेक्टेड है जहाँ से Satellite डाटा रिसीव करता है और आपके घर पर लगे रिसीवर को Data भेजता है और वह रिसीवर Data को फिर WiFi के पास भेजता है और बाद में आप उसी WiFi से इंटरनेट चलाते हो.

अब शायद आप यह समझ ही गए होंगे की Satellite Internet किस तरह काम करता है, इसी तरह Starlink Misison भी काम करेगा. तो चलिए अब जान लेते हैं की स्टारलिंक मिशन में कुल कितना खर्चा लगेगा. 

स्टारलिंक मिशन में कितना खर्चा लगेगा?

अगर बात करें इस मिशन के खर्चे की तो कुछन्यूज़ वेबसाइट का यह कहना है की इस मिशन को पूरा करने के लिए करीब $60 Billion ( 4.8 लाख करोड़ रुपए ) जितना खर्च आएगा लेकिन स्टारलिंक मिशन के मालिक Elon Musk ने कहा की इस मिशन में $60 Billion नहीं, सिर्फ $20 Billion ( 1.5 लाख करोड़ रुपए ) ही खर्च होंगे. 

स्टारलिंक मिशन कब तक पूरा होगा?

जैसा की आप सभी यह जानतें ही हैं की इस मिशन में 42 हज़ार सैटेलाइट्स को पृथ्वी के कक्षा में लॉन्च किया जाएगा, एलोन मस्क हर चरण के हिसाब से सैटेलाइट्स को लॉन्च करेंगे जैसे की उनका कहना है की “साल 2025 तक हम 8 हज़ार सैटेलाइट्स लॉन्च करेंगे और साल 2034 तक हम सभी 42 हज़ार सैटेलाइट्स को पृथ्वी के कक्षा में लॉन्च कर देंगे”. 

Starlink Project Mission in Hindi Satellites

स्टारलिंक मिशन के फायदे ?

अगर इस मिशन के फायदे की बात करें तो इस मिशन के कई सारे फायदे हैं जिन्हे निचे बताया गया है.

  • सुपरफास्ट स्पीड इंटरनेट. 
  • दुनिया के हर कोने में इंटरनेट उपलब्ध होगा. 

स्टारलिंक मिशन के नुक्सान ?

इस मिशन के कुछ नुकसान भी हैं जिसे निचे बताया गया है.

  • अंतरिक्ष में काफी ज्यादा सैटेलाइट्स हो जाएँगी. 
  • अंतरिक्ष में स्पेस Debris बढ़ जाएगा. 
  • Internet काफी महंगा होगा. 

हमें आशा है की यह आर्टिकल पढ़ने के बाद Starlink Project से जुडी आपके सभी सवाल जैसे की Starlink प्रोजेक्ट क्या है ? (Starlink Mission in Hindi), Satellite इंटरनेट कैसे काम करता है?,  स्टारलिंक मिशन में कितना खर्चा लगेगा? इन सभी के जवाब आपको मिल गए होंगे.

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें, आप अपने विचार और सुझाव निचे कमेंट में लिखकर हमें बता सकते हैं.

Vikas Tiwari

विकास तिवारी इस ब्लॉग के मुख्य लेखक हैं. इन्होनें कम्प्यूटर साइंस से Engineering किया है और इन्हें Technology, Computer और Mobile के बारे में Knowledge शेयर करना काफी अच्छा लगता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *