Share Market कैसे सीखे? 7+ आसान तरीके [2022] | Share Market kaise Sikhe Information in Hindi?

Last updated on August 1st, 2022 at 10:24 am

दोस्तों क्या आप Share Market कैसे सीखे? और Share कैसे ख़रीदे ? इस सवाल का जवाब जानना चाहते हैं अगर हाँ तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हैं क्यूंकि इस पोस्ट में मैं आपको Share Market की कई सारी जानकारियां देने वाला हूँ जैसे की Share Market क्या होता है?, इसमें कैसे इन्वेस्ट करें और Share Stock कितने प्रकार के होते हैं? – Share Market kaise Sikhe in Hindi.

दोस्तों आप के मन में एक सवाल जरूर आसकता है Share Market और Stock Market क्या ये दोनों अलग-अलग है, या दोनों का मतलब एक ही है? तो दोस्तों आप ये समझलो की इन दोनों का मतलब एक है, Share Market और Stock Market दोनों का मतलब एक ही है।

शेयर मार्किट को समझना कोई मुश्किल काम नहीं है इसे आप आसानी से सीख सकते है और Share Market में Trading करना कोई भी सीख सकता है बस आपके अंदर stock market सीखने की इच्छा सकती और लगन होनी चाहिए और आप Share Market चलाना सिख सकते है

निवेश आपके जीवन में एक तरह का अनुशासन लाता है जब निवेश करना आपकी आदत बन जायेगा उसके बाद कुछ समय के अंदर आपको अच्छा खासा मुनाफा देखने मिलेगा जो power of compounding की वजह से संभव है।

Share Trading सुरु करने के लिए आपको इसमें expert होना जरुरी नहीं है आपके पास बेसिक नॉलेज होनी चाहिए बस और आप इस Share market में इन्वेस्टमेंट कर के ढेर सारा पैसे कमा सकते है, तो चलिए देखते है की Share Market का काम कैसे सीखे

Table of Contents

Share Market कैसे सीखे? – Share Market kaise Sikhe in Hindi?

दोस्तों शेयर मार्किट सीखने से पहले हम ये समझ लेते की Share Market का असली मतलब क्या होता है, एक बार आप Share Market का मतलब समझ गए फिर आपको Share Market सीखने में और भी आसानी होगी।

Share का क्या मतलब है? – Meaning of Share Market in Hindi?

जब आप किसी कंपनी में इन्वेस्ट करते हैं तो आप उस कंपनी के कुछ Share खरीदते हैं, Share का अर्थ है “हिस्सेदारी“. कंपनी के Share खरीदने के लिए आप एक्सचेंज का इस्तेमाल करते हैं जैसे की NSE और BSE. Share Market में किसी भी तरीके का फ्रॉड रोकने के की जिम्मेदारी SEBI की होती है।

जब आप किसी कंपनी के शेयर में इन्वेस्ट करते है, तब जो भी पैसे अपने लगाया होगा उस शेयर में वो प्रॉफिट देगा या लॉस देगा ये पूरी तरह से उस कंपनी के ऊपर निर्भर करता है।

अगर कंपनी अच्छा ग्रो करती है और फ़ण्डामेंटली स्ट्रांग है तो उस कंपनी के साथ जो आपने शेयर में पैसे लगाए है वो भी बढ़ेगा और आपको प्रॉफिट मिलेगा उस शेयर से, बाजए इसके अगर कंपनी को लॉस होता है और कंपनी फ़ण्डामेंटली भी ज्यादा स्ट्रांग नहीं है तो आपके शेयर का प्राइस गिर जायेगा जिसे आपके पैसे लॉस में रहेंगे।

share market kaise sikhe

अगर आपने Share market गाइड पीडीऍफ़ इन हिंदी के बारे में भी सर्च किया है जिसका उत्तर आपको आगे आसानी से मिल जाएगा।

आज के समय में Online Share खरीदना काफी आसान हो गया है, आप कुछ ही क्लिक में ऑनलाइन Share खरीद सकते हैं।

Share ख़रीदने से पहले आपको कुछ जरुरी स्टेप्स पूरा करना होगा जिसे नीचे बताया गया है।

  1. सुनिश्चित करें की आपके पास Pan Card है।
  2. Demat और Trading अकाउंट खोलें।
  3. Broker सेलेक्ट करें
  4. Bank अकाउंट को अपने Trading अकाउंट से लिंक करे

अब Share खरीदने के लिए आप तैयार हैं, इसके बाद आपको जो भी Share खरीदना है उसके बारे में रिसर्च कर लें और फिर ब्रोकर के App में जाना है और आप एक क्लिक से Share खरीद सकते हैं।

Share Market सीखने के आसान तरीके

चलिए देखते है की share market को कैसे सीखे इसके लिए मैंने नीचे कुछ ऐसे तरीके और steps बताये है जिसे आप फॉलो करके Stock market को बहुत ही गहराई और काफी सरलता से सीख सकते है।

किताबे पढ़े

जहा लोग आजकल मोटा पैसे देकर ऑनलाइन कोर्स खरीद रहे है वही आप सिर्फ किताबे पढ़ के वो सब कुछ सीख सकते हो जिसे आप Stock market से अच्छा खासा प्रॉफिट कमा सकते हो तो Stock market को सीखने के लिए आपको किताबे जरूर पढ़नी चाहिए।

ऑनलाइन कोर्स

आपको बहोत सरे वेबसाइट मिल जायेंगे जो फ्री में ऑनलाइन कोर्स प्रदान करती है और Trading भी करवाते है की कैसे आपको share market में Trading करना है और कैसे आप प्रॉफिट कमा सकते है, तो आप stock market को सीखने के लिए ऑनलाइन कोर्स और वेबसाइटस की मदद ले सकते है।

Trader दोस्त बनाये

अगर आप एक ऐसा दोस्त बना लेते है जो share market को समझता हो और Trading करता हो तो आप उससे बहुत कुछ सीखने में मदद मिलेगी और आपके लिए Stock market को समझने में और भी आसानी होगी तो जरूर से एक ऐसा मित्र या साथी बनाये जो Stock market में रूचि रखता हो और उसे समझता हो।

सफल निवेशक को फॉलो करे

आप ऐसे लोगो को फॉलो करे जो Stock market में सफल है और उन लोगो के इंटरव्यू देखे उनके द्वारा लिखे गए बुक्स पढ़े जो की ज्ञान का और Stock market को समझने का एक अच्छा श्रोत है, ऐसे लोगो को आप यूट्यूब, इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसे सोशल मिडिया पे फॉलो कर सकते हो।

एक सलाहकार ढूंढे

इस Stock market की दुनिया में आपके लिए सब भूल भुलैया जैसा होगा और ऐसे बहुत से लोग है जो इसे हलके में लेते है और Stock market को समझे बिना उसमे घुस जाते है, और खुदका भारी लॉस करा लेते है।

तो इस लॉस से बचने के लिए और Stock market को समझने के लिए आपको एक सलाहकार से मिलना होगा जिसे Stock market में कई सालो का तजुर्बा और समझ दोनों हो वो आपका कोई फॅमिली मेंबर हो सकता है या आपका कोई मित्र हो सकता है आपको ऐसे किसी को अपना सलाहकार बनाना है जो आपको किसी भी वक्त आपके सवाल का जवाब दे सके और आपकी मदद कर सके।

Stock Market में सावधानी रखे

चलिए देखते है Stock Market में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए? सबसे पहले एक ट्रस्टेड ब्रोकर एप्प पे डीमैट अकाउंट बनाये ताकि आपके साथ किसी तरह का फ्रॉड न हो सके इसके लिए आप Grow App का इस्तेमाल कर सकते है।

दुसरि बात ये की आपको किसी भी कंपनी के Stock में इन्वेस्ट करने से पहले उस कंपनी के बारे में अपना रिसर्च जरूर करे और तभी जाके उस Stock में इन्वेस्ट करे।

Share Market के नियम

आपको जरूर से Share Market के नियमों के बारे पता होना चाहिए नहीं तो आपको इससे लॉस भी हो सकता है तो चलिए देखते है Share Market के नियम क्या है?

पहला नियम ये है कभी तुक्के लगा कर किसी Stock को मत ख़रीदे, आपको लगे की ये Stock क्या पता कल को मुझे लाखो या करोडो कमा के देदे मै इसमें निवेश कर देता हु तो ये गलती आप मत करिये।

अगला नियम ये है की आप जब भी किसी कंपनी के Stock में निवेश करेंगे तो एक बार जरूर से उस कंपनी और उसके फंडामेंटल के बारे में रिसर्च कर ले किउकी अगर आप उस कंपनी के Stock में इन्वेस्ट करते है तो आपको उसे अच्छा पैसा का मुनाफा भी होना चाहिए और आपका पैसा लॉस होने के चांस न हो।

एक बात का आपको खास करके खायाल रखना है की आप जभी Stock market में निवेश करते है, तो आपको अपना रिस्क मैनेजमेंट कर के चलना होगा की मै इस Stock market में कितना लॉस सहन कर सकता हु इस बात का खास ध्यान रखे।

जितने भी नए लोग आते है इस Stock market में वो सभी एक कॉमन गलतिया करते है, जो नहीं करनी चाहिए वो ये की वो अपने financial condition के मुकाबले बहुत ज्यादा रिस्क लेते है और इतना पैसा इन्वेस्ट कर देते है जिससे उनका आगे जाके financial condition ख़राब हो जाता है।

आपको इस मार्किट में उतना पैसा लगाना चाहिए जो अगर किसी कारन वर्ष लॉस भी हो जाता है तो उससे आपके financial Condition पर कोई फरक नहीं पड़े अपने रिस्क फैक्टर को मैनेज कर के तब जाके उतने पैसे इन्वेस्ट करे जो लॉस हो तब भी आपको फरक न पड़े।

आखरी रूल ये है की कभी भी जब आप इस Stock market में इन्वेस्ट करते है तो कभी किसी से उधार पैसे लेके या लोन लेके निवेश न करे इस रूल को आपको हमेशा याद रखना है, कभी भी ऐसी गलती मत करना इस Stock market में जिसे आपकी जिंदगी मिस्किल में आजाये तो इस बात का खास करके ख्याल रखे।

Share Market की मूल बातें – Basic of Share Market in Hindi?

क्या आपने कभी सोचा है कि Share और Share Market क्या होते हैं? आइए इस part में Share Market की मूल बातें जानें. हम सभी का यह सपना होता है की हमारे पास पैसा और समय दोनों हो जिससे हम जिंदगी का आनंद उठा सकें लेकिन आज के भाग दौड़ भरी जिंदगी में यह काफी मुश्किल लगता है।

लेकिन अगर आप आने वाले 10-20 सालों में अमीर बनना चाहते हैं तो आपके लिए Share Market एक अच्छा जरिया है, Share मार्किट में आपको पैसे इन्वेस्ट करने होते हैं और इसके लिए आपको Share मार्किट का सम्पूर्ण ज्ञान होना काफी जरुरी  है।

आप अपनी जरूरत के हिसाब से Share Market में शॉर्ट टर्म या लॉन्ग टर्म के लिए निवेश कर सकते हैं. अपनी जोखिम लेने की क्षमता, उम्र और निर्भरता के आधार पर आप Share Market में व्यापारी या निवेशक हो सकते हैं. चूंकि बाजार हमेशा जोखिम से जुड़े होते हैं, इसलिए आपको इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ना होगा. आज भारतीय Share Market में निवेश के विभिन्न विकल्प जैसे Equity, Mutual Fund, SIP, IPO, बॉन्ड, डिबेंचर, डेरिवेटिव, कमोडिटी, आदि हैं।

तो चलिए दोस्तों अब हम ये सीखते यही की Share कैसे ख़रीदे और बेचे? Share को खरीदना मतलब ये है की Share में निवेश करना दोनों का एक ही मतलब होता है।

Share Market में निवेश कैसे करें? – How to Invest in Share Market in Hindi?

अगर आप घर बैठे ही अपने मोबाइल का इस्तेमाल करके stock या Share खरीदना चाहते हो तो ग्रो ऍप (Groww App) आपके लिए सबसे अच्छा बिकल्प शाबित हो सकता है। ग्रो ऍप से डीमैट खाता खोलने के लिए यह वीडियो देखें (निचे देखें)

डीमैट और Trading खाते खोलें:

तो Share Market में निवेश करने के लिए आपको क्या करना होगा? सबसे पहले, एक ब्रोकर के साथ ऑनलाइन डीमैट और Trading खाता खोलें और उसके साथ अपने Bank Account को लिंक करें. डीमैट खाता खोलना एक बहुत ही सरल और आसान प्रक्रिया है. एक बार आपके पास अपना डीमैट और Trading खाता होने के बाद, आप भारतीय Share Market में निवेश करना शुरू कर सकते हैं।

आप ग्रो ऍप (Groww App) से अपना Demat Account आसानी से खोल सकते हैं, अकाउंट खोलने के लिए लिंक पर क्लिक करें:

stock Market में इन्वेस्ट करने के लिए आपको stock एक्सचेंजों और उनके कार्यों से परिचित होना आवश्यक है. stock एक्सचेंज वह जगह है जहां Share की खरीद और बिक्री होती है. stock एक्सचेंजों को SEBI (Securities and Exchange Board of India) द्वारा नियंत्रित किया जाता है. भारत के 2 महत्वपूर्ण stock एक्सचेंज NSE (नेशनल stock एक्सचेंज) और BSE (बॉम्बे stock एक्सचेंज) हैं।

अपने लक्ष्यों के अनुसार, निवेश के लिए विशेष financial asset चुनें. यदि आप नियमित आय और पैसे के संरक्षण के बारे में अधिक चिंतित हैं, तो आप बांड जैसे loan साधनों का विकल्प चुन सकते हैं. यदि आप अच्छा खासा return चाहते हैं और जोखिम लेने को तैयार हैं, तो इक्विटी आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन है. किसी Share में निवेश करने से पहले, कंपनी, उसकी financial स्थिति, विकास की भविष्य की संभावनाओं आदि का पूरा अध्ययन करें और आपको Share Market का गणित पूरा आना चाहिए.

  • अपने जीवन के लक्ष्यों को निश्चित करें
  • financial एसेट के बारे में जानें
  • अपनी जरूरत के अनुसार संबंधित संपत्ति या Share चुनें
  • नियमित रूप से निवेश करना शुरू करें
  • अपने लक्ष्यों को पूरा करें

आशा है कि आपको Share Market का एक मूल विचार मिल गया होगा और इसलिए अब विभिन्न financial साधनों को समझने का समय आ गया है.

Share Market में निवेश करने के लिए Stock के प्रकार

जब आप कोई Share खरीदते हैं, तो आप ownership के आधार पर एक सामान्य Shareholder हो सकते हैं।

बाजार पूंजीकरण (market capitalization) के आधार पर आप लार्जकैप, मिडकैप और स्मॉलकैप Share में निवेश कर सकते हैं. बाजार पूंजीकरण (market capitalization)  = Share की कीमत * बकाया Share की संख्या 

बकाया Share वे Share होते हैं जिन्हें सार्वजनिक बाजारों (public markets) में खरीदा और बेचा जा सकता है. चलिए इसे एक उदाहरण के साथ समझते हैं. मान लीजिए कि एक कंपनी A के पास 100 बकाया Share हैं और Share की कीमत रु 20 है, तो कंपनी का बाजार पूंजीकरण 20*100 = रु 2000 होगा।

लार्ज कैप stock (Large Cap Stock):

ये कंपनियां अच्छी तरह से स्थापित हैं और बाजार में उनकी मजबूत उपस्थिति है. TCS, Infosys और Wipro जैसी कंपनियां इस श्रेणी में आती हैं. इन कंपनियों में निवेश करना कम जोखिम भरा होता है।

मिड कैप stock (Mid Cap Stocks):

इन कंपनियों में बड़ी Growth करने की क्षमता होती है और ये लार्ज कैप कंपनियों की तुलना में अपेक्षाकृत जोखिम (relatively risky) भरी होती हैं।

स्मॉल कैप stock (Small Caps Stocks):

स्टार्ट अप इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं और उपरोक्त दोनों (both of the above) की तुलना में अत्यधिक जोखिम भरे होते हैं. हालाँकि, वे रातोंरात एक सफल कंपनी भी बन सकते हैं।

अगला आवश्यक पहलू जो आपको पता होना चाहिए वह है IPO (आरंभिक सार्वजनिक पेशकश) एक कंपनी IPO के जरिए जनता से पैसा जुटाती है. यह अपने Share को बेचता है ताकि इसके भविष्य के विकास के लिए पैसे लाया जा सके।

जब आप कंपाउंडिंग की शक्ति के कारण किसी Share में निवेश करते हैं तो आपके पैसे अधिक होते है. सरल शब्दों में, आज आपके द्वारा धारित Share की कीमत रु. 100, यदि आप लंबे समय तक Share रखते हैं तो यह दोगुना या तिगुना हो सकता है।

Share कैसे खरीदते है? – How To Buy Share Online in Hindi?

Share में निवेश की संभावना किसी ऐसे व्यक्ति के लिए कठिन लग सकती है जिसने इसके बारे में केवल अखबारों में पढ़ा हो, दोस्तों से सुना हो, या फिल्मों और टीवी शो में इसे देखा हो।

इसके बावजूद, हर साल लाखों व्यक्ति Share में निवेश शुरू करने के लिए अपना पहला डीमैट और Trading खाते खोलते हैं।

ऐसा इसलिए है क्योंकि केवल कुछ अन्य प्रतिभूतियां (securities) इक्विटी Share की पेशकश के रिटर्न के स्तर की तुलना कर सकती हैं. इसके अलावा, ऑनलाइन Trading ने मामलों को माप से परे सरल बना दिया है. ऑनलाइन stock खरीदने के लिए आपको यहां सब कुछ जानना होगा।

एक पैन प्राप्त करें

अगर आपके पास पैन नहीं है तो आप ऑनलाइन Share नहीं खरीद पाएंगे।

सरकारी आदेश के अनुसार, प्रत्येक व्यक्ति को भारत में वित्तीय (financial) लेनदेन को पूरा (Execution) करने के लिए अपना पैन प्रस्तुत करने की आवश्यकता होती है।

इस प्रकार, यदि आपके पास पहले से पैन कार्ड नहीं है तो आप ऑनलाइन पैन कार्ड बनवा सकते है।

ऑनलाइन लेनदेन के दौरान, आपको 10-अंकीय अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर मेंशन करना होगा, जिसके बाद आपके Demand पर कार्रवाई की जाएगी।

Demat और Trading Account खोलें

ये वे खाते हैं जिनकी आपको अनिवार्य रूप से ऑनलाइन stock खरीदने की आवश्यकता होगी।

Demat Account आपको अपनी सभी securities को Demat रूप में रखने की अनुमति देता है, जबकि Trading Account Shares की खरीद और बिक्री की सुविधा प्रदान करता है।

आप ऑनलाइन निवेश प्लेटफॉर्म या ब्रोकरेज फर्मों के साथ Demat और Trading Account खोल सकते हैं

अनन्य डीमैट और Trading अकाउंट नंबरों को स्टोर करना सुनिश्चित करें, जिन्हें ऑनलाइन इक्विटी Share खरीदते समय आपको mention करने की आवश्यकता होगी।

पढ़ें: ग्रो पर डीमैट खाता खोलने के चरण

एक ब्रोकर चुनें

stock ऑनलाइन खरीदने के बारे में विचार करते समय सबसे पहली बात यह है कि आप Share का सीधे व्यापार नहीं कर सकते। आप केवल SEBI-registered brokers और निवेश प्लेटफार्मों के माध्यम से Share में निवेश कर सकते हैं।

ये बिचौलिये (middlemen) इस सेवा को आसान बनाने के लिए ब्रोकरेज चार्ज लगाते हैं. यह या तो एक फ्लैट शुल्क है या कुल लेनदेन मूल्य का प्रतिशत है।

आप सबसे अच्छा विकल्प का खोज करने के लिए विभिन्न Broker द्वारा लगाए गए फीस के सहयोग के साथ अपने निवेश उद्देश्यों का अंदाजा लगाना चाहेंगे।

इसके अलावा, stock के साथ-साथ securities की श्रेणी पर विचार करें जो ब्रोकर उनके साथ registration करने से पहले ऑफ़र करता है।

Bank Account को Trading Account से लिंक करें

आपके सभी लेनदेन Trading Account के माध्यम से किए जाएंगे। हालांकि जब बात आती है Share कैसे खरीदें तो आपका Bank अकाउंट भी जरूरी है।

आप Trading Account के माध्यम से stock खरीदते हैं, लेकिन उस stock को खरीदने के लिए पैसे आपके Bank Account से लिया जाता है।

इसलिए, सभी तीन खातों को जोड़ने की सलाह दी जाती है – Demat, Trading और Saving – ताकि जब भी आप कोई भी लेनदेन करे तो उसमे कोई परेसाहनी न हो . आप अभी भी बेहतर निवेश प्लेटफॉर्म की तलाश कर सकते हैं जो Demat के साथ Trading Account की सुविधा देता हो।

UID प्राप्त करें

यदि आपके लेन-देन का मूल्य 1लाख रुपये से अधिक है, तो आपको एक Unique Identification Number या UID प्राप्त करने की आवश्यकता होगी। SEBI निवेशकों सहित सभी बाजार से जुड़े हुए लोगो के लिए इसे अनिवार्य है।

एक बार जब आप ऊपर बताए गए सभी आवश्यक चरणों को देख लेते हैं, तो आप ऑनलाइन stock खरीदना शुरू कर सकते हैं।

आपको बस अपने ब्रोकर को ऑर्डर देना होगा। ब्रोकर खरीद आदेश को संबंधित stock एक्सचेंज को फॉरवर्ड करेगा, जहां इसका बिक्री आदेश के साथ मैच किया जाएगा।

एक बार लेन-देन पूरा हो जाने के बाद, आपको अपने डीमैट खाते में समकक्ष stock यूनिट प्राप्त होगी।

भारत में Share का चयन कैसे करें? Stock चुनने की गाइड!

भारतीय Share Market में निवेश करने के लिए जीतने वाले Shares को चुनने के लिए आपको आठ आवश्यक चरणों का पालन करना होगा।

क्या कंपनी के पास अच्छे फंडामेंटल हैं?

इस प्रश्न का उत्तर खोजने के लिए, मूल रूप से मजबूत कंपनी खोजने के लिए 2 मिनट की exercise है। इस ड्रिल का उपयोग करके, आप आर्थिक रूप से स्वस्थ कंपनियों को फ़िल्टर कर सकते हैं ताकि आप आगे की जांच के लिए आगे बढ़ सकें। यदि कंपनी मूल रूप से मजबूत नहीं है, तो उसके Product/services, Competitors, भविष्य की संभावनाओं आदि के बारे में अधिक जानने की आवश्यकता नहीं है।

आप अगले चरणों में तभी आगे बढ़ सकते हैं जब आप इस बात की पुष्टि कर लें कि कंपनी ने पहले अच्छे प्रदर्शन दिए हैं और इसमें निवेश करने लायक है। इस 2 मिनट की exercise के लिए, आपको कंपनी की financial situation पर गौर करने की जरूरत है। यहां 8 financial ratio और उनके trend हैं जिन्हें इस चरण में ध्यान से देखा जाना चाहिए:

  • प्रति Share आय (ईपीएस) – पिछले 5 वर्षों से बढ़ रहा है
  • आय Ratio (पीई) के लिए मूल्य – प्रतिस्पर्धियों और उद्योग औसत की तुलना में कम
  • बुक Ratio के लिए मूल्य (PBV) – प्रतिस्पर्धियों और उद्योग औसत की तुलना में कम
  • loan से इक्विटी अनुपात (Equity Ratio) – 1 से कम होना चाहिए (अधिमानतः loan<0.5 या शून्य)
  • इक्विटी पर रिटर्न (ROE) – 15% से अधिक होना चाहिए (पिछले 3 साल का औसत)
  • बिक्री Ratio के लिए मूल्य (P/S) – छोटे मूल्य को प्राथमिकता दी जाती है
  • वर्तमान अनुपात (Present ratio) – 1 से अधिक होना चाहिए
  • लाभांश (Dividend) – पिछले 5 वर्षों से बढ़ रहा है

क्या आप कंपनी द्वारा पेश किए जाने वाले Product/Services को समझते हैं?

कंपनियों को उनके financial बुनियादी सिद्धांतों के आधार पर फ़िल्टर करने के बाद, आपको कंपनी के Business की आगे जांच करने की आवश्यकता है। कंपनी के Business मॉडल को समझें और उसके Product और सेवाओं के बारे में जानें। यह महत्वपूर्ण है कि कंपनी को समझना आसान हो और उसका Business मॉडल काफी सरल हो।

आप पूछ सकते हैं कि कंपनी को समझना इतना महत्वपूर्ण क्यों है। इसे एक उदाहरण की मदद से समझते हैं। मान लें कि आपको एक classmate चुनना है जिसके लिए आप 36 महीने के खर्च का भुगतान करेंगे। इसके बदले में, वह आपको अपनी कमाई का एक चौथाई हिस्सा जीवन भर के लिए देगा। आप किसे चुनेंगे?

चुनते समय, आप उस व्यक्ति का चयन करने के बारे में सोच रहे होंगे जिसकी भविष्य में सबसे अधिक revenue होने की संभावना हो। इसके अलावा, क्या आप बेतरतीब ढंग से एक लड़के/लड़की को चुनेंगे, जिसके बारे में आप कुछ भी नहीं जानते हैं? जैसा कि आप उस व्यक्ति को नहीं जानते हैं,

ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे आप अनुमान लगा सकें कि वह भविष्य में कितना कमाएगा। वही Share के लिए जाता है। यदि आप stock को समझ सकते हैं, तो आप आसानी से एक सूचित निर्णय ले सकते हैं कि stock को किसी भी समय खरीदना, रखना या बेचना है। इसलिए हमेशा उन्हीं कंपनियों में निवेश करें जिन्हें आप समझते हैं।

क्या लोग अब से 15-20 वर्षों में कंपनी के Product/Services का उपयोग करते रहेंगे?

अगला कदम कंपनी के भविष्य के बारे में पूछना है। हमेशा लंबी उम्र वाली कंपनी की तलाश करें। ऐसी कंपनियों में विकास की अपार संभावनाएं होती हैं और compounding की शक्ति ऐसी कंपनियों पर लागू होती है। कुछ साल की लाइफ वाली कंपनियों में निवेश करने से बचें।

उदाहरण के लिए, क्या आपको लगता है कि लोग अब से 20 साल बाद साबुन का इस्तेमाल करेंगे? उत्तर है, हाँ’। यह 100 से अधिक वर्षों से है और निश्चित रूप से भविष्य में भी जारी रहेगा। हो सकता है कि खुशबू बदल जाए, लेकिन साबुन रहेगा। अब एक और उदाहरण लें।

आप पेन ड्राइव के बारे में क्या सोचते हैं? क्या आपको लगता है कि आज से 20 साल बाद भी लोग पेन ड्राइव का इस्तेमाल करेंगे? उत्तर हो सकता है नहीं। कुल मिलाकर, भारतीय Share Market में निवेश करने के लिए केवल एक stock का चयन करें जो अगले 15-20 वर्षों तक चलेगा।

कंपनी ऐसा क्या कर रही है कि जो उसके प्रतियोगी नहीं कर रहे हैं?

कंपनी के unique selling point का पता लगाएं। जानें कि यह कंपनी क्या कर रही है जो उसके प्रतिस्पर्धी नहीं कर रहे हैं।

बेहतर ढंग से समझने के लिए, आइए हम भारतीय ऑटोमोबाइल क्षेत्र का विश्लेषण करें। भारत में कई ऑटोमोबाइल कंपनियां हैं। हालांकि, जब हम यात्री वाहनों (कार और एसयूवी) पर विचार करते हैं, तो मारुति सुजुकी भारत में leading कंपनी है। इस क्षेत्र में टाटा मोटर्स, हुंडई, होंडा, फोर्ड, आदि जैसे मारुति के खिलाफ कई भारतीय और Global प्रतियोगी हैं। हालांकि, वे मारुति की खाई को तोड़ने में सक्षम नहीं हैं।

अपने लागत लाभ और आसानी से उपलब्ध सेवा केंद्रों के कारण मारुति सुजुकी का दबदबा है। मारुति के ज्यादातर प्रतिस्पर्धी इसके Sales Price को लेकर प्रतिस्पर्धा नहीं कर पा रहे हैं।

इसके अलावा, मारुति का सर्विस सेंटर सड़कों के हर कोने पर पाया जा सकता है। छोटे शहरों में भी मारुति कार की सर्विसिंग करना वाकई आसान और वह भी कम कीमत पर। दूसरी ओर, अपनी ‘फोर्ड’ कार की सर्विस कराने का प्रयास करें।

आपको अपने आस-पास शायद ही कोई प्रामाणिक फोर्ड सर्विस सेंटर मिलेगा। इसलिए लोग भारत में मारुति कार खरीदना पसंद करते हैं। और इसलिए, मारुति सुजुकी लगातार अपनी बिक्री बढ़ाने और अपने shareholders को अच्छा रिटर्न देने में सक्षम है।

क्या कंपनी पर बड़ा कर्ज है?

एक कंपनी में बड़े कर्ज नाव में बड़े छेद के समान होते हैं। अगर नाव का छेद जल्द नहीं भरा गया, तो वह लंबे समुद्र को पार नहीं कर पाएगी और बीच में जरूर डूब जाएगी।

भारतीय Share Market में निवेश करने के लिए stock का चयन करने से पहले, देनदारियों के पक्ष में loan का पता लगाने के लिए इसकी बैलेंस शीट पढ़ें। बड़े कर्ज वाली कंपनियों में निवेश करने से बचें।

इसके अलावा, Banking क्षेत्र में कंपनियों का निवेश करते समय, इसकी गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (NPA) की तलाश करें। Banking क्षेत्र की बड़ी NPA वाली कंपनियों से बचें।

क्या कंपनी का प्रबंधन कुशल और योग्य है?

भारतीय Share Market में निवेश करने के लिए stock चुनने से पहले यह सबसे महत्वपूर्ण प्रश्नों में से एक है। management कंपनी की आत्मा है। अच्छा management कंपनी को नई ऊंचाइयों पर ले जा सकता है। दूसरी ओर, खराब management कंपनी के पतन का कारण बन सकता है।

  • रणनीति और लक्ष्य
  • प्रबंधन के कार्यकाल की लंबाई
  • प्रमोटर की खरीद और Share बायबैक
  • कर्मचारियों और श्रमिकों को अनुलाभ और मुआवजा
  • वित्तीय अनुपात ROE और ROCE
  • पारदर्शिता
  • क्या कंपनी लगातार खबरों में है और अत्यधिक लोकप्रिय है?

Share Market लोगों की भावनाओं पर आधारित होता है। अत्यधिक लोकप्रिय stock जो लगातार खबरों में रहते हैं, जनता की अपेक्षाओं और निर्णयों को प्रभावित करते हैं। इन Shares को मीडिया के प्रचार से फुलाया जा सकता है। जैसा कि लोग ऐसी कंपनियों से अधिक परिणाम की उम्मीद करते हैं, अच्छा रिटर्न देने के बाद भी ऐसी कंपनियों के Share की कीमतों में गिरावट आ सकती है।

इसलिए कोशिश करें कि आसान रिटर्न के लिए ऐसी कंपनियों के Share खरीदने से बचें। गर्म stock Market में अस्थिरता के अधीन होते हैं और boring stock वे होते हैं, जो सबसे अच्छा रिटर्न देते हैं।

Share Market में कारोबार करने वाले प्रमुख आर्थिक साधन

Share Market में कारोबार करने वाले प्रमुख आर्थिक साधन

Share Equity:

इक्विटी या stock या Share आपको किसी कंपनी का स्वामित्व (ownership) देते हैं. आप ब्रोकर के माध्यम से Share खरीद या बेच सकते हैं।

म्यूचुअल फंड्स (Mutual Funds):

यहां, कई निवेशकों से पैसा जमा किया जाता है और फिर विभिन्न financial साधनों में निवेश किया जाता है. निवेशकों को यूनिट होल्डर कहा जाता है. उत्पन्न लाभ को इकाई धारकों को उनके द्वारा धारित इकाइयों के अनुपात में बाँट दिया जाता है।

बांड (Bond):

ये निश्चित income के साधन हैं जिन्हें डेट Instruments के रूप में भी जाना जाता है, जिसके द्वारा सरकार या कंपनी एक विशिष्ट कार्यकाल के लिए सहमत ब्याज दर पर निवेशकों से पैसा उधार लेती है. Shares की तुलना में ये कम जोखिम वाले होते हैं।

संजात (Derivatives):

एक व्युत्पन्न एक वित्तीय contract है जिसका मूल्य एक बुनियादी संपत्ति से प्राप्त होता है. इसका उपयोग कई जोखिमों को कम करने के लिए किया जा सकता है. डेरिवेटिव में फॉरवर्ड, फ्यूचर्स, ऑप्शंस और स्वैप शामिल हैं।

Share Market में नुकसान से बचने के टिप्स और गणित – Share Market Maths Tips in Hindi

  • निवेश करने से पहले अपना खुद का शोध करना हमेशा बेहतर होता है।
  • अफवाहों के आधार पर निर्णय लेना बुद्धिमानी नहीं है।
  • अपने निवेश की नियमित रूप से निगरानी करें ताकि आपके घाटे में चल रहे Share को खत्म कर सकें।
  • किसी भी निवेशक के लिए धैर्य बहुत जरूरी है।
  • निवेश का कदम उठाने से पहले शोध विशेषज्ञों की भी मदद लें।
  • Share Market की खबरों से हमेशा अपडेट रहें – Share Market kaise Sikhe in Hindi.

Trading कितने प्रकार के होते हैं? – Types of Stock Trading in Hindi?

Stock Trading विश्व स्तर पर लोकप्रिय है क्योंकि यह बड़े पैमाने पर रिटर्न का वादा करता है। कई Traders ने stock Trading में लाखों की कमाई की है।अक्सर नए लोगों को stock Trading के प्रकार के बारे में जानकारी नहीं होती है। निचे हमने stock Trading के प्रकार के बारे में बताया है!

विभिन्न प्रकार के stock Trading

इंट्राडे Trading:

इस Trading में व्यापारी पूरे लेन-देन को एक दिन में पूरा करते हैं। यह पैसा कमाने का एक आसान तरीका है। दिन में बाजार के उतार-चढ़ाव से आपको लाभ होता है। जो Trading फुल टाइम करते हैं उनके लिए इंट्राडे ट्रेडिंग सबसे अच्छा ट्रेडिंग बिकल्प है।

पोजीशन Trading:

यह व्यापारियों को इंट्राडे Trading की तुलना में ट्रेडिंग के लिए अधिक समय देता है। इसमें आप stock को महीनों तक रख सकते हैं। आप कीमत के मिजाज और तकनीकी रुझानों को समझकर Share को लंबे समय तक होल्ड कर सकते हैं।

स्विंग Trading:

यह आपको stock को एक दिन से अधिक समय तक रखने की अनुमति देता है और Trading के जोखिम को कम करता है।

ऑनलाइन Trading:

सरल शब्दों में, यह व्यापारिक प्रक्रियाओं को Execution करने का माध्यम है। इसमें पोजीशन, स्विंग, इंट्राडे और निवेश व्यापार जैसी कई व्यापारिक प्रक्रियाएं शामिल हैं अर्थात ऑनलाइन वेबसाइट का इस्तेमाल करके आप कोई भी Trading कर सकते हैं।

शॉर्ट टर्म Trading:

इस प्रकार की Trading एक दिन से लेकर कुछ हफ्तों तक वैध होती है और महत्वपूर्ण परिणाम देती है।

मध्यम Trading:

इससे आप stock को महीनों तक भी होल्ड कर सकते हैं और आप स्टॉप लॉस के ट्रेंड को फॉलो कर सकते हैं।

लॉन्ग टर्म Trading:

यह खंड वर्षों तक stock रखने की अनुमति देता है, जो कि मौलिक विश्लेषण द्वारा तय किया जाता है। Dividend, बोनस और कंपनी के विस्तार में वृद्धि के साथ लाभ प्राप्त होता है।

यह भी पढ़ें:

Mutual Fund के 7 फायदे

Mutual Fund के प्रकार

Mutual Fund के नुक्सान

इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आप यह समझ ही गए होंगे की Share क्या होता है, इसमें आप कैसे इन्वेस्ट कर सकते हैं, Share Market कैसे करें? (Share Market Kaise Sikhe) Share Market कैसे खेलते हैं? और Share Stock कितने प्रकार के Share होते हैं?

FAQ

Q: Share Market कम से कम कितने पैसे इन्वेस्ट कर सकते है?

Ans: भारतीय Share Market में निवेश शुरू करने की कोई कम से कम सीमा नहीं है. stock की कीमत को कवर करने के लिए आपके पास बस पर्याप्त पैसे होनी चाहिए. इसलिए, आपको भारत में Trading शुरू करने के लिए बड़ी राशि की आवश्यकता नहीं है, 50 रुपये से भी कम कीमत में stock खरीदना संभव.

Q: Share मार्किट में नुक्सान से बचने के टिप्स

Ans : 1) अपने निवेशक प्रोफाइल को समझें
2) अपने भावना से प्रेरित निवेश निर्णयों से बचें
3) Portfolio विविधता
4) उधार के पैसे का निवेश करने से पहले सावधान रहें
5) Market के Trend या विशेषज्ञों का आँख बंद करके विश्वास न करें
6) Market की भविष्यवाणी करने से बचें
7) वास्तविक रिटर्न उम्मीदें रखें

Q: Share कब खरीदना चाहिए?

Ans: stock खरीदने का सबसे अच्छा समय तब होता है जब किसी Share की कीमत कम होती है। हमेशा एक मौका है कि वे और भी नीचे गिरेंगे, लेकिन कम कीमत पर खरीदना उच्च कीमत पर खरीदने से काफी सुरक्षित है जहां stock की कीमत बहुत अधिक चढ़ने की संभावना नहीं है।

इसके बजाय, कीमतें गिर सकती हैं और आपको नुकसान में बेचना पड़ सकता है। जब आप कम कीमत पर Share खरीदते हैं, तो वे और गिर सकते हैं लेकिन इस बात की काफी अधिक संभावना है कि वे जल्द ही घूमेंगे और बढ़ेंगे, जिससे आपको लाभ पर बेचने का मौका मिलेगा।

3 thoughts on “Share Market कैसे सीखे? 7+ आसान तरीके [2022] | Share Market kaise Sikhe Information in Hindi?”

  1. इससे आगे की जानकारी भी चाहिए जैसे कि कैसे अच्छे शेयरों को पहचाने कहां निवेश करेंगे कौनसा खरीदें यह जानकारी

    Reply

Leave a Comment