मोबाइल का अविष्कार किसने किया? | Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya?

मोबाइल एक ऐसा साधन बन चूका है जिससे हम जब चाहें अपने लोगों से संपर्क बना सकतें हैं, हम चाहे कितनी भी दूर क्यों न हो मोबाइल का इस्तेमाल करके हम आपस में जुड़ सकते हैं. आज आपके पास स्मार्टफोन है जिसे आप अपने पॉकेट में रखकर जहाँ ले जाना चाहते हैं वहां ले जा सकतें हैं, लेकिन जब पहले मोबाइल निर्माण हुआ था तब वह काफी बड़ा और भारी था.

आज के समय में दुनिया में मोबाइल इस्तेमाल करने वालों की संख्या लगभग 500 करोड़ तक पहुँच गयी है. आप इसी बात से यह समझ सकते हो की किस तरह मोबाइल हम सभी के जीवन का अभिन्न अंग हो गया है.

मोबाइल का इस्तेमाल करके लोगों से बात करना, ऑनलाइन पढाई करना, ऑनलाइन मूवी देखना, ऑनलाइन पैसे Pay करना ऐसे और भी कई काम है जिसे हम मोबाइल की सहायता से करते हैं. लेकिन क्या आप को मालूम है की मोबाइल का अविष्कार किसने किया था? (Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya?) चलिए जानतें हैं.

मोबाइल का अविष्कार किसने किया? (Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya?)

3 अप्रैल 1973 को Martin Cooper ने मोबाइल का अविष्कार किया था, इस मोबाइल का नाम था Motorola Dyna TAC और इसका वजन करीब 1.1 किलोग्राम था यह 9 इंच जितना बड़ा था.

मार्टिन कूपर ने जिस समय मोबाइल का अविष्कार किया था उस समय वे मोटोरोला कंपनी में एक शोधकर्ता के रूप में कार्यरत थे. मोबाइल फ़ोन का अविष्कार करने के बाद मार्टिन कूपर ने उसी मोबाइल से अपने प्रतिद्वंदी Dr. Joel S. Engel को कॉल लगाया था.

Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya?
Martin Cooper

इस मोबाइल (Motorola Dyna TAC) को फुल चार्ज होने में करीब 10 घंटे का समय लगता था, और एक बार फुल चार्ज होने के बाद इससे करीब 30 मिनट बात किया जाए सकता था. इस पहले मोबाइल की क़ीमत करीब 2 लाख रूपए के बराबर थी, और उस समय इसे 0G (Zero Generation) मोबाइल कहा जाता था. वह मोबाइल सेलुलर नेटवर्क के नियमों से काम करता था. हालाँकि इस पहले मोबाइल में बहुत खामियां भी मौजूद थी जैसे की इसका आकार, कीमत, और बैटरी. 

आम लोगों तक मोबाइल कब पहुंचा?

उस समय तक आम लोगों के लिए यह मोबाइल उपलब्ध नहीं था, क्यूंकि इसमें बहुत खामियाँ थी और इसकी कीमत भी बहुत ज्यादा थी. इसलिए इस मोबाइल की खामियों को दूर करना और इसे कम कीमत में आम लोगों के लिए उपलब्ध कराना मोटोरोला का मुख्य लक्ष्य बन गया था.

पहले मोबाइल के अविष्कार होने के 10 साल बाद, साल 1983 में मोटोरोला कंपनी ने पहली बार आम लोगों के लिए मोबाइल को उपलब्ध कराया. इसका नाम था Motorola Dyna TAC 8000X.  पहले वाले मोबाइल में काफी बदलाव करके Motorola Dyna TAC 8000X का निर्माण किया गया था, इसकी बैटरी फुल चार्ज होने के बाद करीब 6 घंटे तक चलती थी और इसे फुल चार्ज करने में 10 घंटे का समय लगता था.

इस मोबाइल को एक बार फूल चार्ज करने के बाद इससे 30 मिनट तक बात किया जा सकता था. अगर बात करें इसकी कीमत की तो यह करीब $3995 US Dollar (उस समय करीब 1 लाख 6 हज़ार भारतीय रूपए) का था जो की आज के समय 2 लाख 80 हज़ार भारतीय रूपए के बराबर है. उस समय इस मोबाइल फ़ोन की सबसे ख़ास बात यह थी की इसमें 30 लोगों के contact नंबर को सेव किया जा सकता था.

भारत में पहला मोबाइल कब आया? (India Me Pahela Phone Kabhi Aya?)

अगर बात करें भारत की तो, पहले मोबाइल के अविष्कार होने के बाद भारत में मोबाइल को आने में 22 साल लग गए. साल 1995 में भारत में पहली बार मोबाइल की उपलब्धता कराई गयी थी. भारत में पहला मोबाइल कॉल उस समय के केंद्रीय दूरसंचार मंत्री सुख राम जी ने 31 जुलाई 1995 को वेस्ट बंगाल के मुख़्यमंत्री ज्योति बासु जी को सबसे पहला कॉल किया था. इस कॉल का कनेक्शन दिल्ली के संचार भवन और कलकत्ता के राइट्स बिल्डिंग के बीच हुआ था.

उस समय भारत में पहले मोबाइल सेवा को उपलब्ध करने का काम Modi Telstra’s Mobile Net कंपनी ने किया था. उस समय भारत में सबसे पहले मोबाइल फ़ोन की उपलब्धता करने वाली कंपनी Modi Telstra’s Mobile Net आज के समय में spice mobile के नाम से जाना जाता है.

आज के समय में भारत मोबाइल इस्तेमाल करने वाला दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है. तब से लेकर अब तक (2021)भारत में मोबाइल इस्तेमाल करने वालों की संख्या 120 करोड़ तक पहुँच गयी है. आने वाले समय में भारत में मोबाइल फ़ोन इस्तेमाल करने वालों की संख्या काफी तेज़ी से बढ़ेगी. 

सिम कार्ड का अविष्कार किसने किया था? (SIM card Ka Avishkar Kisne Kiya?)

SIM कार्ड का Full Form है Subscriber Identity Module, सिम कार्ड का इस्तेमाल करके ही हम मोबाइल फ़ोन के जरिये एक दूसरे को कॉल कर सकते हैं. लेकिन क्या आपको पता है की सिम कार्ड का अविष्कार किसने किया था? चलिए जानतें हैं.

साल 1991 में Giesecke और Devrient नामक जर्मन कंपनी ने सबसे पहले SIM Card का अविष्कार किया था. पहले सिम कार्ड का आकार क्रेडिट कार्ड जितना बड़ा था और एक सिम से दूसरे सिम में कनेक्ट होने के लिए GSM (Global System For Mobile Networks) तकनीक का इस्तेमाल किया जाता था.

Sim Card Ka Avishkar Kisne Kiya
SIM Card

साल 1991 में केवल 300 सिम कार्ड ही बनाए गए थे, लेकिन आज के समय में सिम कार्ड अरबों की संख्या मौजूद हैं. पहले के सिम कार्ड काफी बड़े आकार के होते थे लेकिन आज के समय में हमारे पास नैनो सिम कार्ड और eSim कार्ड मौजूद है. eSim का पूरा नाम है Electronic-Sim, इस कार्ड का आकार काफी छोटा होता है यह पहले से ही मोबाइल में फिट कर दिया जाता है. यह एक चिप की तरह होता है इसे मोबाइल नेटवर्क से कनेक्ट करना पड़ता है.

मोबाइल फ़ोन की कुछ सामान्य जानकारी  

1. आप यह जानकर हैरान हो जाओगे की, Apollo 11 Moon Landing में इस्तेमाल किये गए कम्प्यूटर से भी अधिक कंप्यूटिंग पावर आपके मोबाइल फ़ोन का कंप्यूटिंग पावर है
2. जब आप किसी चलती गाड़ी में होतें हैं तब आपके मोबाइल को सिग्नल प्राप्त करने के लिए काफी ज्यादा पावर लगाने की जरुरत पड़ती है.

3. साल 2012 में Apple कंपनी ने एक दिन में 340,000 स्मार्टफोन को बेचा था.

4. जापान के यंग लोगों को नहाते समय मोबाइल फ़ोन इस्तेमाल करने की आदत पड़ गयी थी इसलिए वाटर प्रूफ स्मार्टफोन का निर्माण किया गया.

5.  आप यह जानकर चौक  जाओगे की टॉयलेट में मौजूद बैक्टीरिया से 18 गुना अधिक बैक्टीरिया आपके मोबाइल पर मौजूद है.

6. साल 2015 में शार्क के वजह से जितने लोग नहीं मारे गए थे उससे अधिक लोग सेल्फी लेते समय मारे गए थे.

7. ऐसे बच्चे जो रोज़ाना 2 घंटे से भी अधिक फ़ोन इस्तेमाल करतें हैं, उनकी डिप्रेशन में जाने की संभावना काफी ज्यादा होती है.

8. जब आपके मोबाइल के बैटरी कम होने लगती है तब आप चिंता में पड़ जातें हैं उसी तरह आपको आपके मोबाइल फ़ोन के खो जाने की चिंता रहती है, ऐसी चिंता को Nomophobia कहा जाता है.

9. मोबाइल फ़ोन के रेडिएशन से बचने के लिए आपको मोबाइल अपने सर (Head) से 25 मिलीमीटर दूर रखना चाहिए. ऐसा मोबाइल फ़ोन खरीदते समय जो प्रिंट मिलता है उसमे लिखा रहता है. 

10. दुनिया का सबसे महँगा फ़ोन है Falcon Supernova iPhone 6 Pink Diamond, इसकी कीमत करीब 300 करोड़ रूपए है. इस मोबाइल फ़ोन के बैक कवर पर लगे हीरे और सोने के वजह से यह इतना महँगा है.

11. Nokia 1100 दुनिया का सबसे अधिक बिकने वाला मोबाइल फ़ोन था. नोकिआ कंपनी ने 5 सालों में Nokia 1100 के 25 करोड़ यूनिट्स को बेचा था.

12. दुनिया के सबसे मजबूत मोबाइल फ़ोन का नाम है Sonim XP3300 Force जिसे 84 फ़ीट ऊपर से गिराया गया था लेकिन फिर भी इसमें खरोच भी नहीं आया था.

13. दुनिया के पहले कैमरा फ़ोन का नाम है Sharp-J SH04, जिसे जापान में स्थित Sharp Corporation नामक कंपनी द्वारा साल 2000 में बनाया गया था.

14. एक रिपोर्ट के मुताबित भारत में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला App है Whatsapp, Facebook, Facebook Messanger, Shareit, और Truecaller. 

15. Apple कंपनी ने 2018 में करीब 5 लाख 70 हज़ार iPhone यूनिट को हर एक दिन बेचा है.

दुनिया की 10 सबसे बेहतरीन स्मार्टफोन कम्पनीज (Top 10 Smartphone Companies in 2021)

1. Samsung : यह दुनिया की सबसे ज्यादा बड़ी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. सैमसंग ने साल 2020 में 35 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 18 Billion Dollar (1 लाख 31 हज़ार करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

2. Apple : यह कंपनी दुनिया की दूसरी सबसे अधिक मोबाइल फ़ोन बेचने वाली कंपनी है. एप्पल ने साल 2020 में 21 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 48 Billion Dollar (3 लाख 50 हज़ार करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

3. Huawei : हुआवेई दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. हुआवेई ने साल 2020 में 15 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 6 Billion Dollar (43 हज़ार करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

4. Oppo : ओप्पो दुनिया की चौथी सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. ओप्पो ने साल 2020 में 11 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 1.4 Billion Dollar (10 हज़ार करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

5. Vivo : वीवो दुनिया की पांचवी सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. वीवो ने साल 2020 में 9  करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 1.1 Billion Dollar (8 हज़ार करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

6. Xiaomi : शाओमी दुनिया की छठी सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. शाओमी ने साल 2020 में 9 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 1 Billion Dollar (7.3 हज़ार करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

7. LG : LG दुनिया की सातवीं सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. LG ने साल 2020 में 5.5 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 110 Million Dollar (800 करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

8. Lenovo : लेनोवो दुनिया की आठवीं सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. लेनोवो ने साल 2020 में 5 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 535 Million Dollar (3900 करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

9. ZTE :  ZTE दुनिया की नवीं सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. ZTE ने साल 2020 में 4.5 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 719 Million Dollar (5248 करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

10. Alcatel Lucent : Alcatel Lucent दुनिया की दसवीं सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है. Alcatel Lucent ने साल 2020 में 2 करोड़ मोबाइल यूनिट को बेचा था और इसे 219 Million Dollar (1591 करोड़ रूपए) का फायदा हुआ था.

conclusion :

हमें आशा है की यह लेख मोबाइल का अविष्कार किसने किया? (Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya?) पढ़ने  के बाद आपके सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे. 

आप अपने विचार और सुझाव को Comment में लिखकर हमें बता सकतें हैं.

Vikas Tiwari

विकास तिवारी इस ब्लॉग के मुख्य लेखक हैं. इन्होनें कम्प्यूटर साइंस से Engineering किया है और इन्हें Technology, Computer और Mobile के बारे में Knowledge शेयर करना काफी अच्छा लगता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *