गूगल का अविष्कार किसने किया? | Google Ka Avishkar Kisne Kiya?

गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है, दुनिया में कुल 440 करोड़ से भी अधिक इंटरनेट users हैं लेकिन इनमें से 90% इंटरनेट Users गूगल का इस्तेमाल करते हैं. आज के समय में Google हर एक इंटरनेट users के ज़िन्दगी का हिस्सा बन गया है. लेकिन क्या आप जानतें हैं की गूगल का अविष्कार किसने किया? इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आप जान जाएंगे की गूगल का अविष्कार किसने किया था? (Google Ka Avishkar Kisne Kiya?).

आज के समय में पढाई से लेकर कई बड़े बड़े Busineses सभी गूगल पर ही निर्भर है. जब आपको कोई Information चाहिए होता है तो आप गूगल का ही सहारा लेते हैं. आप जिस Gmail का इस्तेमाल Files और Document को भेजने के लिए करते हो वह गूगल का ही Software है.

Google Drive पर आप अपने Files और Photos को अपलोड करके हमेशा के लिए सेव कर सकते हो, इसके साथ ही Android ऑपरेटिंग सिस्टम, Google Map, Google Photos, Google My Business ये सभी गूगल के ही सॉफ्टवेयर हैं.

गूगल सिर्फ सॉफ्टवेयर फील्ड  में ही नहीं है बल्कि यह हार्डवेयर फील्ड में भी धमाल मचा रहा है जैसे की Google Pixel और Google Home इत्यादि. 

Google का अविष्कार किसने किया था? (Google Ka Avishkar Kisne Kiya?)

Larry Page और Sergey Brin ने मिलकर गूगल का अविष्कार किया था. लैरी पेज और सेर्गे ब्रिन जब विश्वप्रसिद्ध Stanford University में कम्प्यूटर इंजीनियरिंग में Phd कर रहे थें तब उन्होंने इसे एक प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया था.

google ka avishkar kisne kiya

जब लैरी पेज और सेर्गे ब्रिन मिलकर सर्च इंजन के प्रोजेक्ट को चालू किये थे तब उनके साथ उनके दोस्त Scott Hassan भी थे. शुरू में Scott Hassan ने ही गूगल का Coding किया था. हालाँकि बाद में Scott Hassan इस प्रोजेक्ट को छोड़ दिए थे और सन 2006 में इन्होनें “Willow Garage” नामक कंपनी की स्थापना की.

गूगल के अविष्कार में शुरू में तो तीन लोग थे लेकिन बाद में Scoot Hassan द्वारा गूगल के प्रोजेक्ट को छोड़ने के बाद लैरी पेज और सेर्गे ब्रिन ने मिलकर गूगल के प्रोजेक्ट को पूरा किया. 

जब शुरू में गूगल का निर्माण हो रहा था तब इसका नाम Backrub रखा गया था, बाद में इसका नाम बदल के Googol रखा गया. लेकिन फिर एक स्पेलिंग mistake के वजह से इसका नाम Googol से Google हो गया. Googol एक संख्या है जो की 1 के पीछे 100 जीरो लगाने पर आता है.

Google का अविष्कार कब हुआ?

15 सितम्बर 1997 में www.google.com डोमेन Name को ख़रीदा गया था उसके बाद Larry Page और Sergey Brin ने 4 सितंबर 1998 में गूगल को निजी कंपनी के रूप में स्थापित किया. इस कंपनी को स्थापित करने के लिए Larry page अपने फॅमिली से, Investors से और दोस्तों से करीब 40 लाख रुपए उधार लिए थे. उन्ही पैसो से लैरी पेज और सेर्गे ब्रिन ने गूगल की स्थापना की थी और आज गूगल की मार्किट कीमत 1 Trillion Dollar से भी अधिक है. 

गूगल के आने से पहले और भी कई Search Engine मौजूद थे लेकिन वे सभी अच्छे Result नहीं दे पा रहे थे. इसलिए लैरी पेज ने गूगल में वेबसाइट को रैंक करने के लिए Backlink के संकल्पना को लाए.  जिस भी वेबसाइट के पास Quality backlink होती थी वही वेबसाइट गूगल में रैंक करती थी जिससे उपयोगकर्ताओं को काफी अच्छे Result मिलते थें. यहीं से गूगल की सफलता की भी शुरुआत हो गयी थी.

लैरी पेज के बैकलिंक वाले विचार से गूगल को काफी फायदा हुआ क्यूंकि गूगल से पहले अन्य किसी सर्च इंजन में बैकलिंक की संकल्पना नहीं थी. 
बैकलिंक की संकल्पना के आधार पर ही गूगल का सबसे पहला नाम Backrub रखा गया था, उसके बाद इसके नाम को Googol रखा गया और अंत में इसका नाम स्पेलिंग मिस्टेक की वजह से Google रख दिया गया.

गूगल का अविष्कार अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया में हुआ था. आज के समय में (2021) भारत के सुन्दर पिचई गूगल के CEO हैं. साल 2019 में सुन्दर पिचई की सालाना सैलरी करीब 1700 करोड़ रूपए थी.

गूगल का मालिक कौन है? (Google Ka Malik Kaun Hai)

गूगल का मालिक Alphabet inc. है यह गूगल की Parent Organization है इसका निर्माण लैरी पेज और सर्गे ब्रिन ने साल 1998 में किया था. आज के समय में गूगल दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला Search Engine बन चुका है.

Google ka malik kaun hai

गूगल मार्किट में खुद के कुल 50 से भी अधिक प्रोडक्ट को लॉन्च कर चूका है चाहे वो Gmail हो या फिर गूगल Pixel फ़ोन. Alphabet कंपनी कई सारी कमापनियों का मालिक है और उसमे से गूगल एक है, Alphabet कंपनी के CEO लैरी पेज हैं और गूगल के CEO सुन्दर पिचाई हैं, आज के समय में गूगल पर हर घंटे में 14 करोड़ से भी अधिक सर्च किये जाते हैं.

तो चलिए अब गूगल के कुछ रोचक तथ्य भी जान लेतें हैं.

1. आप यह जानकर चौक जाओगे की गूगल एक सेकंड में लगभग 1 लाख 30 हज़ार 900 रूपए कमाता है.

2. साल 2004 में अप्रैल फूल के दिन गूगल ने Gmail की शुरुआत की थी, शुरू में यह Paid था लेकिन बाद में इसे गूगल ने सभी लोगों के लिए Free कर दिया था.

3. साल 2004 में ही गूगल ने Google Map और Google Earth को लॉन्च किया जिसका इस्तेमाल हम सभी रोज़ करतें हैं.

4. साल 2020 तक गूगल पर हर सेकंड में 40 हज़ार सर्च होती थी लेकिन जैसे जैसे उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ेगी वैसे ही गूगल पर searches की संख्या भी बढ़ेगी. 

5. साल 1998 में गूगल पर हर एक दिन 10 हज़ार सर्च होती थी और 2006 में इतना ही सर्च हर एक सेकंड में होती थी.

6. आप यह जानकार चौक जाओगे की गूगल पर हर हफ्ते 20 हज़ार लोग Job के लिए आवेदन भरते हैं.

7. गूगल पर हर रोज़ 20 प्रतिशत ऐसी चीज़ों के बारे में सर्च होता है जिसे पहले कभी सर्च नहीं किया गया.

8. 2012 में गूगल को 5 करोड़ webpages को scan करने में सिर्फ 1 मिनट का समय लगता था, और 1999 में इतना ही webpages स्कैन करने के लिए एक महीने का समय लगता था.

9. आप यह जानकार चौक जाओगे की गूगल ने अपने Streat View मैप के लिए 80 लाख 46 हज़ार किलोमीटर जितनी लम्बी सड़क के बराबर फ़टोग्राफ लिए है.

10. गूगल के head office में 200 बकरियों को सिर्फ घास काटने के लिए रखा गया है. ऐसा इसलिए क्यूंकि मशीन का इस्तेमाल करने से Office में आवाज और धुंआ दोनों फैलता है.

11. 23 सितम्बर 2008 को गूगल ने Android ऑपरेटिंग सिस्टम को लॉन्च किय, और आज के समय में 80 प्रतिशत स्मार्टफोन में एंड्राइड का ही इस्तेमाल होता है.

12. साल 2006 में गूगल ने YouTube को 1.6 अरब डॉलर में ख़रीदा था, आज के समय में गूगल के बाद YouTube दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन बन गया है.

13. आज के समय में पूरी दुनिया में गूगल के लगभग 70 ऑफिस मौजूद हैं.

14. आप यह जानकार चौक जाओगे की गूगल में काम करने वाले कुल Employees में से 14 प्रतिशत लोग कभी कॉलेज गए ही नहीं थे.

15. एक अनुमान के मुताबित गूगल के सभी Data Centers में 9 लाख से भी अधिक Servers मौजूद हैं.

Conclusion :-

हमें आशा है की आपको यह मालूम हो गया होगा की गूगल का अविष्कार किसने किया (Google Ka Avishkar Kisne Kiya) और इसका मालिक कौन है. अब तक तो आपको गूगल के अविष्कार से जुड़े कई सवालों के जवाब भी मिल गए होंगे. 

आप अपने विचार और सुझाव निचे Comment में लिख कर हमें बता सकतें हैं. अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा तो इसे Whatsapp पर अपने दोस्तों को भी शेयर करें. 

Vikas Tiwari

विकास तिवारी इस ब्लॉग के मुख्य लेखक हैं. इन्होनें कम्प्यूटर साइंस से Engineering किया है और इन्हें Technology, Computer और Mobile के बारे में Knowledge शेयर करना काफी अच्छा लगता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *